Category Archives: Uncategorized

आना

जो मुखरित कर जाती थी मेरा नीरव आवाहन, मैं ने दुर्बल प्राणों की वह आज सुला दी कम्पन! थिरकन अपनी पुतली की भारी पलकों में बाँधी, निस्पन्द पड़ी हैं आँखें…

चाह

चाहता है यह पागल प्यार, अनोखा एक नया संसार! कलियों के उच्छवास शून्य में तानें एक वितान, तुहिन-कणों पर मृदु कंपन से सेज बिछा दें गान; जहाँ सपने हों पहरेदार,…

मोती मूँगे उतार बनमाला पोई

मोती मूँगे उतार बनमाला पोई॥ अंसुवन जल सींचि सींचि प्रेम बेलि बोई। अब तो बेल फैल गई आणँद फल होई॥ दूध की मथनिया बडे प्रेम से बिलोई। माखन जब काढि…

आख़र पछोतावेंगी कुड़ीए

आख़र पछोतावेंगी कुड़ीए, उठि हुन ढोल मनाय लै नीं ।1।रहाउ। सूहे सावे लाल बाणे, करि लै कुड़ीए मन दे भाणे, इकु घड़ी शहु मूल न भाणे, जासनि रंग वटाय ।1।…

मानिंद-ए-शमा

मानिंद-ए-शमा मजलिस-ए-शब अश्कबार पाया अल क़िस्सा ‘मीर’ को हमने बेइख़्तियार पाया शहर-ए-दिल एक मुद्दत उजड़ा बसा ग़मों में आख़िर उजाड़ देना उसका क़रार पाया इतना न दिल से मिलते न…

इब्तिदा-ए-इश्क़ है रोता है क्या

इब्तिदा-ए-इश्क़ है रोता है क्या आगे-आगे देखिये होता है क्या क़ाफ़िले में सुबह के इक शोर है यानी ग़ाफ़िल हम चले सोता है क्या सब्ज़  होती ही नहीं ये सरज़मीं तुख़्मे-ख़्वाहिश दिल…