Category Archives: Uncategorized

आख़र पछोतावेंगी कुड़ीए

आख़र पछोतावेंगी कुड़ीए, उठि हुन ढोल मनाय लै नीं ।1।रहाउ। सूहे सावे लाल बाणे, करि लै कुड़ीए मन दे भाणे, इकु घड़ी शहु मूल न भाणे, जासनि रंग वटाय ।1।…

मानिंद-ए-शमा

मानिंद-ए-शमा मजलिस-ए-शब अश्कबार पाया अल क़िस्सा ‘मीर’ को हमने बेइख़्तियार पाया शहर-ए-दिल एक मुद्दत उजड़ा बसा ग़मों में आख़िर उजाड़ देना उसका क़रार पाया इतना न दिल से मिलते न…

इब्तिदा-ए-इश्क़ है रोता है क्या

इब्तिदा-ए-इश्क़ है रोता है क्या आगे-आगे देखिये होता है क्या क़ाफ़िले में सुबह के इक शोर है यानी ग़ाफ़िल हम चले सोता है क्या सब्ज़  होती ही नहीं ये सरज़मीं तुख़्मे-ख़्वाहिश दिल…

छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाइके

छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाइके प्रेम भटी का मदवा पिलाइके मतवारी कर लीन्ही रे मोसे नैना मिलाइके गोरी गोरी बईयाँ, हरी हरी चूड़ियाँ बईयाँ पकड़ धर लीन्ही…

ज़िहाल-ए मिस्कीं मकुन तगाफ़ुल, by amir khusro

ज़िहाल-ए मिस्कीं मकुन तगाफ़ुल, दुराये नैना बनाये बतियां । कि ताब-ए-हिजरां नदारम ऎ जान, न लेहो काहे लगाये छतियां । शबां-ए-हिजरां दरज़ चूं ज़ुल्फ़ वा रोज़-ए-वस्लत चो उम्र कोताह, सखि…