Category Archives: Ravidas

विवाह और उपरामता

विदास जी को अपने कामकाज में लायक जानकर माता-पिता जी ने इनकी शादी करने की सोची। पिता सँतोखदास जी ने अपने ससुर साहब बाहू जी को सन्देश भेजा कि दोहते…

मीरा जी को कुछ ऐसे मिल गए जो कि भक्त रविदास

रियासत उदयपुर में महाराणा साँगा जी की बहू रानी मीराबाई श्री कृष्ण जी के नाम से बहुत प्यार करती थी। हर वक्त गीता का पाठ करती और उनकी मूर्तियों का…

गुरु रविदास जी और ब्रहामणों की कहानी

एक बार की बात है गुरु रविदासजी को कशी नरेश के दरबार में बुलाया गया। ब्राहमणों ने उनपर यह शिकायत किया था कि गुरु जी एक पाखंडी हैं और उन्हें…

भक्त रविदास को कंगन देने प्रकट हुईं गंगा मैया

रविदास जी को रैदास जी के नाम से भी जाना जाता है। इनके माता-पिता चर्मकार थे। इन्होंने अपनी आजीविका के लिए पैतृक कार्य को अपनाया लेकिन इनके मन में भगवान…

बेगम पुरा सहर

  बेगम पुरा सहर को नाउ ॥ दूखु अंदोहु नही तिहि ठाउ ॥ नां तसवीस खिराजु न मालु ॥ खउफु न खता न तरसु जवालु ॥1॥ अब मोहि खूब वतन…