Category Archives: poets name with R

मौला मेरे कर अहसान 

तेरे मेरे क्या दरमियान क्या राज क्या पहचान तू मेरी जात  और मुझसे तेरी पहचान खुदा रहे बस अब यु मेहरबान मौला मेरे कर अहसान इश्क़ अल्लाह का नाम दूजा इश्क़…

RAHIM

रहिमन राम न उर धरै, रहत विषय लपटाय। पसु खर खात सवादसों, गुर गुलियाए खाय॥241॥ रहिमन रिस को छाँड़ि कै, करौ गरीबी भेस। मीठो बोलो नै चलो, सबै तुम्‍हारो देस।1242॥…

RAHIM

रहिमन आँटा के लगे, बाजत है दिन राति। घिउ शक्‍कर जे खात हैं, तिनकी कहा बिसाति॥181॥ रहिमन उजली प्रकृत को, नहीं नीच को संग। करिया बासन कर गहे, कालिख लागत…

RAHIM

नैन सलोने अधर मधु, कहि रहीम घटि कौन। मीठो भावै लोन पर, अरु मीठे पर लौन॥121॥ पन्‍नग बेलि पतिव्रता, रति सम सुनो सुजान। हिम रहीम बेली दही, सत जोजन दहियान॥122॥…

RAHIM

जब लगि जीवन जगत में, सुख दुख मिलन अगोट। रहिमन फूटे गोट ज्‍यों, परत दुहुँन सिर चोट॥61॥ जब लगि बित्‍त न आपुने, तब लगि मित्र न कोय। रहिमन अंबुज अंबु…

RAHIM ( GANGA JAMUNA TAHJEEB )

तैं रहीम मन आपुनो, कीन्‍हों चारु चकोर। निसि बासर लागो रहै, कृष्‍णचंद्र की ओर॥1॥ अच्‍युत-चरण-तरंगिणी, शिव-सिर-मालति-माल। हरि न बनायो सुरसरी, कीजो इंदव-भाल॥2॥ अधम वचन काको फल्‍यो, बैठि ताड़ की छाँह।…

हम जी लेंगे

अब तुम बिन जी लेंगे मान होगा मुश्किल सफर पर हम जी लेंगे मेरी मोहब्बत मुझे रास न आई हर कदम पे इक ठोकर है खायी मैं  नादान थी जो…

आखिरी सलाम

शायद आखिरी हो सलाम हमारा इस बार कबूल फ़रमा लेना गर मिलने हम आये तो इस बार गले से लगा लेना शिकवे रहे शिकायते रही तुमसे बहुत इस बार सब…

कुछ खास नहीं

उसकी खूबसूरती मैं कुछ खास  नहीं उसके चेरे की रंगत भी कुछ अलग नहीं   गुलाब से जलते होठ है उसके पर गुलाबकोई खास तो नहीं   मीठी सी बोली…

रब्त

इस कदर रब्त है लोगो को मुझसे के मेरा  नाम सुनते ही तौबा करते हैं इस कदर तुझमे दुब गया ये दिल तुझ मैं के लोग अब मुझमे तेरा ही…

मोहबत भी  इबादत भी

  गर मोहबत भी  इबादत ही है तो ये बदनाम कैसे हुई गर इबादत मैं खलल गुनाह है  तो तो मोहब्बत पे बंदिशे क्या है मोहबत तो मोहब्बत है इसे…