Tag Archives: duniya

दोनों जहान तेरी मोहब्बत मे हार के

दोनों जहान तेरी मोहब्बत मे हार के वो जा रहा है कोई शबे-ग़म गुज़ार के वीराँ है मयकदः ख़ुमो-सागर उदास हैं तुम क्या गये कि रूठ गए दिन बहार के…

जान ही लेने की हिकमत में तरक़्क़ी देखी मौत का रोकने वाला कोई पैदा न हुआ

जान ही लेने की हिकमत में तरक़्क़ी देखी मौत का रोकने वाला कोई पैदा न हुआ उसकी बेटी ने उठा रक्खी है दुनिया सर पर ख़ैरियत गुज़री कि अंगूर के बेटा…

अरे ख्वाबे-मुहब्बत की भी क्या ता’बीर होती है

अरे ख्वाबे-मुहब्बत की भी क्या ता’बीर होती है. खुलें आँखे तो दुनिया दर्द की तस्वीर होती है. उमीदें जाए और फिर जीता रहे कोई. न पूछ ऐ दोस्त!क्या फूटी हुई…

हमको तुमको फेर समय का ले आई ये हयात कहाँ 

हमको तुमको फेर समय का ले आई ये हयात कहाँ ? हम भी वही हैं तुम भी वही हो लेकिन अब वो बात कहाँ ? कितनी उठती हुई जवानी खिलने से पहले…

अगर बदल न दिया आदमी ने दुनियाँ को

अगर बदल न दिया आदमी ने दुनियाँ को, तो जान लो कि यहाँ आदमी कि खैर नहीं. हर इन्किलाब के बाद आदमी समझता है, कि इसके बाद न फिर लेगी…

हमसे फ़िराक़ अकसर छुप-छुप कर पहरों-पहरों रोओ

हमसे फ़िराक़ अकसर छुप-छुप कर पहरों-पहरों रोओ हो वो भी कोई हमीं जैसा है क्या तुम उसमें देखो हो जिनको इतना याद करो हो चलते-फिरते साये थे उनको मिटे तो…

कुछ इशारे थे जिन्हें दुनिया समझ बैठे थे हम

कुछ इशारे थे जिन्हें दुनिया समझ बैठे थे हम उस निगाह-ए-आशना को क्या समझ बैठे थे हम रफ़्ता रफ़्ता ग़ैर अपनी ही नज़र में हो गये वाह री ग़फ़्लत तुझे…

मैं होशे-अनादिल हूँ मुश्किल है सँभल जाना

मैं होशे-अनादिल हूँ मुश्किल है सँभल जाना ऐ बादे-सबा मेरी करवट तो बदल जाना तक़दीरे-महब्बत हूँ मुश्किल है बदल जाना सौ बार सँभल कर भी मालूम सँभल जाना उस आँख की…

तुम्हारे साथ का मौसम बहारों के सरीखा था

तुम्हारे साथ का मौसम बहारों के सरीखा था। हमने गम में भी हंसना तुम्हारे साथ सीखा था॥ तुम्हीं ने जिन्दगी बदली, बदल फिर तुम गए कैसे? अब तो जिन्दगी का…

जो आए वो हिसाब-ए-आब-ओ-दाना

जो आए वो हिसाब-ए-आब-ओ-दाना करने वाले थे गए वो लोग जो कार-ए-ज़माना करने वाले थे उड़ाने के लिए कुछ कम नहीं है ख़ाक घर में भी वो मौसम ही नहीं…

ज़मीं, फिर दर्द का ये सायबां कोई नहीं देगा

ज़मीं, फिर दर्द का ये सायबां कोई नहीं देगा तुझे ऐसा कुशादा आसमां कोई नहीं देगा अभी ज़िंदा हैं, हम पर ख़त्म कर ले इम्तिहाँ सारे हमारे बाद कोई इम्तिहां,…